मुनिश्री तरुणसागरजी के सानिध्य में गुरु पूर्णिमा पर्व मनाया गया

औरंगाबाद, 13 जुलाई
औरंगाबाद में 28 वें चातुर्मास के लिए पधारे मुनिश्री तरुणसागरजी महाराज की उपस्थिति में आज यहां अदालत रोड स्थित तापडिया, कासलीवाल मैदान पर गुरुपूर्मिमा पर्व उत्साह के साथ मनाया गया।

 कार्यक्रम स्थल पर सुबह सवेरे मुनिश्री के आगमन पर पूरा शामियाना जयकार से गूंज उठा। ध्वजारोहण की घोषणा के साथ ही पूजा प्रकाश अजमेरा ने मंगलाचरण प्रस्तुत किया।

बाद में शामियाने के मध्य स्थित घूमते मैजिक बाक्स से युधिष्ठर के रुप में आये सरकार ने जादू से राष्ट्रध्वज तिरंगा, पुष्पगुच्छों के साथ जैन धर्म की विशाल चार धर्म ध्वजाएं निकालीं, जिन्हें देख कर श्रृद्धालुजन चकित रहे। दुसरी और स्वागत गीत के साथ जैन महिला मंडल की कार्यकर्ताओनें मुनितरुणसागर पधारे यह गीत पे नृत्य के साथ प्रस्तुत किया, तब पूरा परिसर झूम उठा। तत्पश्चात गुरुमंत्रदीक्षा कार्यक्रम के लिए मुनिश्री शामियाने के मध्य में स्थापित घुमते हुए विशाल कमल पर विराजमान हुए। घुमता कमल चारों दिशाओं के मध्य में था। पूरब-पश्चिम, उत्तर-दक्षिण दिशाओं से उनका आशीर्वाद लेने के लिए औरंगाबाद जिले सहित पुणे,सातारा, सांगली, कोल्हापुर, गुजरात, मध्यप्रदेश,हरियाणा,उत्तर प्रदेश सहित विभिन्न क्षेत्रों से आये गुरुभक्त आने लगे। मंच संचालन कर रहे बेलगाम के विधायक संजय पाटिल मुनिश्री के जीवन से संबंधित व्याख्यानों के साथ साथ सभी पुजा अर्चनाओं की घोषणा कर रहे थे। इस दौरान मुनिश्री को पिच्छीं , कमंडल तथा शास्त्र दान किये गये. इस अवसर परआयोजित समवशरण के पहले अपने संबोधन न में विधायक राजेद्रं दर्डा ने कहा की हम सब के लिए अनोखा दिन है। क्रांतिकारी राष्ट्रसंत के रुप में प्रसिध्द मुनिश्री तरुणसागरजी महाराज का यहां चातुर्मास के लिए उपस्थित होने से आज इतिहास रचने जा रहा है। उन्होंने कहा-‘आज तक मीठे प्रवचन बहुत सुने थे लेकिन कड़वे-प्रवचन के माध्यम से हजारों भक्तों को अपनी ओर खीचने वाले पहली बार आये है। श्री दर्डा ने कहा की परिवर्तन की लडाई का योध्दा यदि कोई है तो वह है तरुणसागरजी महाराज ही है। यहां भी वे अवश्य ही नये प्रयोग कर सभी को लाभान्वित करेंगे। दोपहर में गुरुपरिवार सम्मेलन था जिसमें श्री राजेन्द्र झेले (जयसिंगपुर) , विलास शेटी (सांगली), विधायक संजय पाटील (बेलगाम), शांतिनाथ होतपेट्टे ने अपने विचार रखे। नई दिल्ली के मुनिश्री के परम भक्त विजेर्द्र कुमार जैन ने चातुर्मास समिति के एक लाख रुपये को तथा प्रवचन में उपस्थित गुरु भाईयों की अच्छी सुविधा के लिए  भी दान देने की घोषणा की। कार्यक्रम में चातुर्मास समिति के सभी पदाधिकारी, विधायक राजेंद्र दर्डा, सांसद चंद्रकांत खैरे सहित अनेक मान्यवर उपस्थित थे।